अनमोल बातें - 1

Rate this item
(0 votes)
अनमोल बातें - 1

कुछ बातें एसी होती हैं जो दिल में उतर जाती हैं और इंसान को सोचने का नया बयाम देती हैं।

महापुरुषों के कथनों की यही विशेषता है।

हज़रत अली अलैहिस्सलाम फ़रमाते हैं कि इंसान में तीन हालतें एसी होती हैं जिनमें सारी नेकियों एकत्रित होती हैं। यह तीन हालतें क्या हैं? निगाह, मौन और बोली। पहली चीज़ है निगाह इंसान अपने आसपास की चीज़ों, इंसानों, बर्ताव तथा ईश्वर की पैदा की गई चीज़ों को देखता है। हम सभी अपने जीवन में कुछ चीज़ों को देखते हैं।

दूसरी चीज़ है मौन। कुछ हालतें एसी होती हैं जिनमें हम ख़ामोश रहते हैं। तीसरी चीज़ है बोली। कभी कभी हम बोलते हैं। यह तीन हालतें हमारे यहां होती हैं और हम इन तीनों हालतों में सारी नेकियों को एकत्रित कर सकते हैं।

इन तीनों हालतों में यदि हम सर्तकता बरतें तो बड़ी नेकियां कर सकते हैं।

हज़रत अली अलैहिस्सलाम कहते हैं कि सच्चे भाइयों की तलाश में रहो। सच्चे भाई अर्थात वह लोग जो तुम्हारे सच्चे मित्र और बंधु हैं। यह स्चची दोस्ती आम तौर पर ईमान और आस्था पर आधारित होती है। जब इंसान अपने किसी मोमिन भाई के साथ किसी चीज़ के बारे में समान आस्था और दृढ़ विश्वास रखता है तो यह बंधुत्व सच्चा बंधुत्व है। इसीलिए वह कहते हैं जहां तक हो से सच्चे भाइयों की तलाश में रहो। जो लोग ईमान और आस्था के आधार पर निष्ठापूर्ण तरीक़े से तुम्हारे साथ होते हैं, जब आराम और सुकून के हालात होंगे तो उस हालात में वह तुम्हारी पुंजी होंगे और यदि कठिनाई का समय होगा तो तुम्हारे मददगार होंगे। मुश्किल का समाना होने की स्थिति में वह इंसान की ढाल बन जाते हैं। यानी सच्चे भाई एक दूसरे की ढाल बनते हैं और इंसान मुसीबत से सुरक्षित रहता है।

 

 

Read 26 times